Monday, 1 October 2012

२ अक्टूबर की काली रात


उत्तराखंड आन्दोलन "मुज्पफर नगर काँड" की याद  मेरी डायरी के पन्नो से 
 अक्टूबर की वो काली रात 
उत्तराखंडीयों  के लिए 
काल बन के आई थी 
सत्ता के काल दूतों ने  
कालिख अपने चहरे पर पोती थी  
ना  उनको बूढ़ा नजर आया 
ना   दिखाई दिया बच्चा 
ना  महफूज रखी माँ, बहन की इज्जत 
मानवता को शर्मसार किया 
मानवता पर कलंक लगाने वालो 
तुमने क्या पाया ?
उत्तराखंड के  इतिहास में एक काला पन्ना जोड़ 
उन घरों को हमेशा के लिए दंश दे गए 
.... बलबीर राणा "भैजी"
अज्ञांत समय दिन १९९७

1 comments:

Anonymous said...

Join YUVA, Voice of Uttarakhand !

YUVA (Young Uttarakhand Voluntary Action), for the voice of youth of Uttarakhand !

Open the YUVA page, like it and share on your Facebook wall



http://www.facebook.com/pages/YUVA-Foundation/159965244127954